डोडा बरामदगी का माल बेचने का आरोप : बागोड़ा डोडा बरामदगी प्रकरण : मुख्यमंत्री तक पहुंचा शिकायत का मामला, बड़े स्तर से जांच की सम्भावना

बागोड़ा डोडा बरामदगी प्रकरण : मुख्यमंत्री तक पहुंचा शिकायत का मामला, बड़े स्तर से जांच की सम्भावना

बागोड़ा डोडा बरामदगी प्रकरण : मुख्यमंत्री तक पहुंचा शिकायत का मामला, बड़े स्तर से जांच की सम्भावना
बागोड़ा डोडा बरामदगी प्रकरण : मुख्यमंत्री तक पहुंचा शिकायत का मामला, बड़े स्तर से जांच की सम्भावना
  • बागोड़ा में डोडा बरामदगी के बाद कुछ माल बेचने का आरोप
  • कुछ दिनों पहले एक मुखबिर ने आईजी जोधपुर रेंज को भेजा था पत्र, अब एक व्यक्ति ने उक्त पूरे प्रकरण की मुख्यमंत्री को की शिकायत, बागोड़ा थानाधिकारी के साथ-साथ पुलिस अधीक्षक व एक पुलिस निरीक्षक पर भी लगाए गड़बड़ी में शामिल होने के आरोप

फर्स्ट राजस्थान @ जालोर

जालौर जिले के बागोड़ा थाना में 29 मई को डोडा पोस्ट बरामदगी के मामले की गड़बड़ी की शिकायत अब मुख्यमंत्री तक पहुंच गई है। जानकारी में सामने आया है कि पुलिस मुख्यालय से बड़े स्तर से जांच की संभावना बनी हुई है। आपको बता दें बागोड़ा में 29 मई को पुलिस की ओर से 270 किलो डोडा पोस्ट बरामद कर दो युवकों को गिरफ्तार किया गया था। साथ में उनसे हथियार व कारतूस बरामद किए गए थे। इस कार्रवाई के बाद एक कथित रूप से एक मुखबिर ने आईजी जोधपुर रेंज को पत्र लिखकर शिकायत की थी, जिसमें डोडा बरामदगी प्रकरण में गड़बड़ी की जानकारी दी गई थी। मामले को लेकर फर्स्ट राजस्थान में खबर पोस्ट होने के बाद अब इस मामले में एक अन्य व्यक्ति ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को इस प्रकरण की शिकायत लिखी है। और पूरे घटनाक्रम में बागोड़ा थाना अधिकारी समेत जालौर पुलिस अधीक्षक  व जालौर के एक पुलिस निरीक्षक  पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने पत्र में इस प्रकरण में जानबूझकर गड़बड़ी कर 180 किलो डोडा पोस्त किसी तस्कर को बेचने के आरोप लगाए गए हैं। साथ ही जहां से डोडा पोस्त भरकर भेजे गए थे, वहां से भी राशि वसूलने की बात लिखी गई है। सूत्रों के मुताबिक इस प्रकार के पत्र के बाद पुलिस मुख्यालय से बड़े स्तर से कार्रवाई शुरू करने की संभावना बनी है। आरोपों में कितनी सत्यता है, यह तो उचित जांच के बाद ही पता चल पाएगा, लेकिन इस प्रकार के आरोपों से जालोर पुलिस महकमे की किरकिरी हो रही है।

180 किलो डोडा पोस्त बेचने का आरोपपुलिस की कार्रवाई में पुलिस अधीक्षक की ओर से जारी प्रेस नोट के मुताबिक कार्रवाई में एक स्कोर्पियो से 18 कट्टों में 270 किलो डोडा पोस्त बरामद कर दो युवकों को गिरफ्तार किया, साथ ही पिस्तौल व कारतूस बरामद किए थे। यह कार्रवाई  बागोड़ा पुलिस व जालोर एसपी की विशेष टीम जिसमें एक उपनिरीक्षक, एक हेडकांस्टेबल व चार कॉन्स्टेबल की मौजूदगी में की गई, जबकि कथित रूप से आरोप लगाने वाले ने दावा किया है कि डोडा कुल 451 किलोग्राम था, लेकिन कार्रवाई के बाद जालोर से एक पुलिस निरीक्षक को बागोड़ा भेजा गया तथा 180 किलो डोडा पोस्त अलग कर एक क्वार्टर में रखा गया। बाद में इसे बाड़मेर जिले में एक तस्कर को बेचा गया। साथ ही बाद में चित्तौड़गढ़ में जहां से डोडा लाए गए थे, वहां से भी रकम वसूली गई। इस प्रकार से पुलिस की ओर से गड़बड़ी करने के आरोप लगाए गए है। आरोप कितने सच है यह तो जांच के बाद ही पूर्ण रूप से पता चल पाएगा, लेकिन पुलिस पर इस प्रकार के आरोप लगाए गए है तो कहीं न कहीं चूक होने के भी संकेत है।

इनका कहना है....

इस प्रकार की गड़बड़ी की आशंका नहीं है। क्योंकि विशेष टीम भी कार्रवाई में साथ थी। जो भी आरोप लगा रहे है, वो तस्करों के चहेते होंगे जो अनुसंधान को भटकाने का प्रयास कर रहे है।
-सूरजभानसिंह, थानाधिकारी, बागोड़ा