ईरान से पहली बार जोधपुर लाए 277 भारतीय नागरिक

ईरान से पहली बार जोधपुर लाए 277 भारतीय नागरिक

ईरान से पहली बार जोधपुर लाए 277 भारतीय नागरिक
ईरान से पहली बार जोधपुर लाए 277 भारतीय नागरिक

जोधपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण से प्रभावित सबसे अधिक देशों में से एक ईरान से बुधवार को सुबह दो विशेष विमान में 277 भारतीय नागरिकों को जोधपुर लाया गया। ये सभी कोरोना निगेटिव बताए जा रहे हैं और इन्हें जोधपुर में भारतीय सेना की तरफ से तैयार विशेष क्वारैंटाइन सेंटर में रखा गया है। यह पहला मौका है जब विदेश से लाए जाने वाले भारतीय नागरिकों को जोधपुर में रखा गया है। जैसलमेर के वेलनेस सेंटर में पहले से ईरान से लाए गए 484 भारतीय नागरिकों को क्वारैंटाइन किया गया है। वेलनेस सेंटर में भेजने से पहले सभी यात्रियों की एयरपोर्ट पर विशेष जांच की गई।
सैन्य सूत्रों का कहना है कि बुधवार तडक़े 4.40 बजे पहला विमान ईरान से जोधपुर पहुंचा जबकि एक घंटे बाद दूसरा विमान यहां आया। दोनों विमानों से आने वाले भारतीय नागरिकों को एयरपोर्ट के विशेष गेट से निकाल कर सीधे सैन्य क्षेत्र में निर्मित वेलनेस सेंटर ले जाया गया। इसमें सभी को 14 दिन तक क्वारैंटाइन किया जाएगा। इस दौरान सेना के प्रशिक्षित चिकित्सकों और नर्सिंग कर्मचारियों की टीम देखरेख करेगी। जैसलमेर में रहने वाले भारतीय नागरिकों की वेलनेस सेंटर में क्वारैंटाइन अवधि पूरी होने वाली है। इस कारण वहां नए लोगों को भेजने के बजाय जोधपुर लाने का फैसला किया गया।
बता दे कि कोरोना के दुनियाभर में बढ़ते फैलाव को देखते हुए भारतीय सेना ने काफी पहले अपनी तैयारी शुरू कर दी थी। इसके तहत सबसे पहले जोधपुर व जैसलमेर में वेलनेस सेंटर बनाए गए। इसके बाद बाड़मेर में भी एक ऐसा ही सेंटर तैयार किया गया। जैसलमेर के वेलनेस सेंटर में रहने वाले नागरिकों को सेना की तरफ से उच्च स्तरीय चिकित्सा सुविधाओं के अलावा रहने, खाने-पीने व मनोरंजन की बेहतरीन सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है।